हम भी किस्मत का लिक्खा बदल डालते

तुम जो अपना नजरिया बदल डालते
हम भी किस्मत का लिक्खा बदल डालते 

साथ चलने को तेरे दिल राजी न होता
हम साथ चलने का फैसला बदल डालते

मौसमों की तुझे खबर भी ना मिलती
खौफ से घुटन के हम हवा बदल डालते

तुझ सा आता हमे जीने का गर हुनर
पता अपने मकां का हम बदल डालते

जिंदगी अपनी आसान हो जाती गर
हम जो हमारा मसला बदल डालते
                                (9/2/2010-अनु)

Advertisements

2 responses to this post.

  1. तुझ सा आता हमे जीने का गर हुनर ..पता अपने मकां का हम बदल डालते ..बहुत खूब

    -सादर
    पवन धीमान
    0050938050683
    http://www.pawandevdhiman.blogspot.com

    प्रतिक्रिया

  2. तुम जो अपना नजरिया बदल डालते
    हम भी किस्मत का लिक्खा बदल डालते

    great motivational

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: